कोरोनावायरस से वित्तीय संकट की तुलना में दोगुना नुकसान : मूडीज
कोरोनावायरस से वित्तीय संकट की तुलना में दोगुना नुकसान : मूडीज
news

कोरोनावायरस से वित्तीय संकट की तुलना में दोगुना नुकसान : मूडीज

news

राकेश सिंह नई दिल्ली, 22 जून (हि.स.)। क्रेडिट रेटिंग एजेंसी मूडीज ने सोमवार को कहा कि कोरोनोवायरस दुनिया के सबसे अमीर देशों में इस साल औसतन 20 प्रतिशत अंक तक कर्ज स्तर को बढ़ाएगा। यह 2009 में वित्तीय संकट के दौरान हुए नुकसान के करीब दोगुना है। मूडीज की एक नई रिपोर्ट में अमेरिका और जापान से लेकर इटली और ब्रिटेन तक के 14 देशों की स्थिति का आकलन किया गया कि कोरोनोवायरस से प्रेरित आर्थिक मंदी उनके वित्त को कैसे प्रभावित करेगी। मूडीज ने कहा कि हम अनुमान लगाते हैं कि इस समूह में औसत रूप से सरकारी ऋण/ जीडीपी अनुपात में लगभग 19 प्रतिशत अंक की वृद्धि होगी, जो कि 2009 में महान वित्तीय संकट के दौरान हुए नुकसान से लगभग दोगुना है। इटली, जापान और ब्रिटेन को अपनी जीडीपी के लगभग 25 प्रतिशत अंकों की सबसे बड़ी ऋण वृद्धि का सामना करना पड़ेगा, जबकि अमेरिका, फ्रांस, स्पेन, कनाडा और न्यूजीलैंड में यह करीब 20 प्रतिशत अंकों की दिखाई देगी। पिछले सप्ताह ब्रिटेन के आंकड़ों में सार्वजनिक उधारी को मई में रिकॉर्ड ऊंचाई पर देखा गया और सार्वजनिक क्षेत्र का ऋण आर्थिक उत्पादन का 100 प्रतिशत था। मूडीज ने कहा कि कर्ज के स्तर को नीचे ले जाने में विफलता के कारण भविष्य में कमजोर क्रेडिट प्रोफाइल वाले और आर्थिक या वित्तीय झटके की आशंका वाले देशों की सॉवरेन क्रेडिट रेटिंग नीचे हो जाएगी। रिपोर्ट में कहा गया है, "रेटिंग के आंकड़े भविष्य के संभावित झटकों के सामने कर्ज कम करने की सरकारों की क्षमता पर निर्भर करेंगे।" हिन्दुस्थान समाचार-hindusthansamachar.in