आवश्यक वस्तु संशोधन अधिनियम से जमाखोरी- मंहगाई बढ़ेगी:कांग्रेस
आवश्यक वस्तु संशोधन अधिनियम से जमाखोरी- मंहगाई बढ़ेगी:कांग्रेस
news

आवश्यक वस्तु संशोधन अधिनियम से जमाखोरी- मंहगाई बढ़ेगी:कांग्रेस

news

रायपुर, 22 सितम्बर (हि.स.)।आवश्यक वस्तु संशोधन अधिनियम 2020 को पारित करवा कर मोदी सरकार ने देश मे मंहगाई के बढ़ने के मार्ग को प्रशस्त कर दिया है।प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि आवश्यक वस्तु संशोधन अधिनियम 2020 के बाद महत्वपूर्ण सामानों दाल ,आलू ,प्याज जैसे वस्तुओं के मूल्य से सरकार का नियंत्रण समाप्त हो जाएगा। जमाखोरों को प्रश्रय मिलेगा।भाजपा सरकार पूंजीपतियों और मुनाफाखोरों के हितों को आम आदमी के हितों से ज्यादा महत्व दे रही है।इस कानून के लागू होने के पहले वर्तमान में आवश्यक वस्तुओं को तय मात्रा से अधिक भंडारण और जादा मुनाफाखोरी करने पर प्रतिबन्ध था ।ऐसा करने वालो पर कार्यवाही के कड़े कानूनी प्रावधान थे ।मोदी सरकार इन कानूनों खत्म कर रही है। वर्तमान में प्याज दाल आदि के जमाखोरी करने वालो पर राज्य सरकार छापे मारी कर सकती है लेकिन मोदी सरकार के नए कानून के बाद यह नही हो सकेगा । कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि कोरोना काल मे मोदी सरकार देश के लोगो के खिलाफ कानून बनाने की मुहिम में लगी है । पहले किसानों के खिलाफ विधेयक पारित करवा कर देश की कृषि व्यवस्था को पूंजीपतियों के हाथों सौपने का मार्ग खोला गया ।अब रोजमर्रा की जरूरतों की आवश्यक वस्तुओं के मूल्य पर से सरकारी नियंत्रण समाप्त कर आम आदमी को करने और महंगाई से जूझने के लिए छोडने का षड्यंत्र किया जा रहा है। कांग्रेस प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा मोदी सरकार का चरित्र जनहितैषी नही बल्कि पूंजीपति पोषक है । सरकार आम आदमी को सहूलियत देने के अपने लोकतांत्रिक दायित्वों से लगातार भाग रही है ।इसके पहले पेट्रोल और डीजल के दामों को बाजार के मूल्यों पर आधारित कर उस पर से भी सरकारी नियंत्रण समाप्त कर दिया गया था जिसका खामियाजा देश की जनता को रोज भुगतना पड़ता है ।पहले चार छह महीने में डीजल पेट्रोल के दामों में बढ़ोतरी होती थी ।जब से सरकारी नियंत्रण समाप्त हुआ रोज कुछ न कुछ बढ़ोतरी हो जाती है ।धीरे धीरे पेट्रोल डीजल के दाम 50 प्रतिशत तक बढ़ गए।वही फार्मूला अब मोदी सरकार खाने पीने की सामग्रियों पर आजमाने जा रही है। हिन्दुस्थान समाचार/केशव-hindusthansamachar.in