आर्थिक संकट से उबरेंगे 12 लघु उद्योग, पूंजीगत व्यय का मिलेगा 50 लाख तक अनुदान
आर्थिक संकट से उबरेंगे 12 लघु उद्योग, पूंजीगत व्यय का मिलेगा 50 लाख तक अनुदान
news

आर्थिक संकट से उबरेंगे 12 लघु उद्योग, पूंजीगत व्यय का मिलेगा 50 लाख तक अनुदान

news

० गत पंचवर्षीय उद्योग नीति की कैपिटल सब्सिडी योजना कोरोनाकाल में बनी संजीवनी कोरबा, 16 सितम्बर (हि स )। जिले के 12 लघु उद्योगों को कोरोना संकटकाल में बड़ी आर्थिक राहत मिलने जा रही है । गत पंचवर्षीय उद्योग नीति में स्थापित हुए इन उद्योगों को पूंजीगत इकाई की स्थापना लागत का 30 फीसदी अनुदान राशि दी जाएगी । कैपिटल सब्सिडी योजना के तहत उद्योग विभाग ने इसकी कवायद शुरू कर दी है । यहाँ बताना होगा कि औद्योगिक क्षेत्र खरमोरा में 91 लघु उद्योग संचालित हैं । इन उद्योगों में कैमिकल्स ,फेब्रिकेशन ,फ्लाईएश ब्रिक्स ,आरामशीन ,आक्सीजन प्लांट ,इलेक्ट्रोड निर्माण ,कूलर आलमारी और पतंग बनाने वाले छोटी इकाइयां शामिल है । पशुओं का आहार भी औद्योगिक क्षेत्र में बनाया जाता है । इन औद्योगिक इकाइयों को 45 साल पहले उद्योग शर्त के अधीन लीज पर जमीन आबंटित की गई है ।औद्योगिक इकाइयों ने संयंत्रों की स्थापना ,कच्चा माल ,आदि पर एक बड़ी पूंजी व्यय की है । आर्थिक जोखिम उठाकर लघु इकाइयां स्थापित । शासन कैपिटल सब्सिडी योजनांतर्गत ऐसे लघु उद्योगों को 30 से 50 फीसदी तक (अधिकतम 50 लाख ) इकाई लागत में सब्सिडी प्रदान करती है । जिलों के आधार पर छूट की दायरा तय किया गया है । अधुसूचित जिले की वजह से जिले में भी गत उद्योगिक नीति 2014 -19 में 17 लघु उद्योग स्थापित हुए थे । इन लघु उद्योगों को कैपिटल सब्सिडी नहीं मिल सकी थी । अब जाकर शासन के निर्देश पर जिला उद्योग एवं व्यापार केन्द्र ने इसकी शुरू की है । परीक्षण के बाद जिले में 12 लघु उद्योग इसके लिए पात्र पाए गए हैं । जिनके द्वारा कैपिटल सब्सिडी के लिए दावा करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है । साल के अंत तक उद्योगों को कैपिटल सब्सिडी मिल जाएगी । शासन की इस पहल से कोरोना संकटकाल में आर्थिक संकट से जूझ रहे लघु उद्योग उबर जाएंगे । चालू उद्योग नीति में कर दी कटौती जिले में कैपिटल सब्सिडी से लाभान्वित हो रहे दर्जनों लघु उद्यमियों की किस्मत अच्छी है। जिन्होंने गत पंचवर्षीय उद्योग नीति में औद्योगिक इकाईयां स्थापित की । वर्तमान उद्योग नीति 2020-2024 में कैपिटल सब्सिडी में कटौती कर दी गई है । इकाइयों की सब्सिडी में 50 फीसदी की कटौती कर दी गई है । महाप्रबंधक उद्योग ए तिर्की ने बताया कि कैपिटल सब्सिडी योजना के तहत गत पंचवर्षीय योजना में स्थापित पात्र उद्योगों को लाभान्वित किया जाएगा । इसकी कवायद शुरू कर दिए हैं। हिन्दुस्थान समाचार / हरीश तिवारी-hindusthansamachar.in