आरामिलों में वन अमला की दबिश देकर दस्तावेजों की जांच की
आरामिलों में वन अमला की दबिश देकर दस्तावेजों की जांच की
news

आरामिलों में वन अमला की दबिश देकर दस्तावेजों की जांच की

news

रायगढ़, 12 सितंबर (हि.स.) । रायगढ़ वन परिक्षेत्र की वनक्षेत्रपाल लीला पटेल अपनी टीम के साथ शनिवार को शहर के संजय आरामिल में पहुंची। यहां उन्होंने आरामिल के भंडारण, दस्तावेज सहित अन्य प्रकार की जांच की। बताया जा रहा कि जिस आरामिल में खामियां पाई जाएगी वहां नियमानुसार कार्रवाई भी की जाएगी। संजय आरामिल के अलावा अन्य आरामिल की भी जांच की जानी है। वहीं रेंजर राजेश्वर मिश्रा का नेतृत्व भी इस कार्रवाई में देखने को मिला। आज जांच के दौरान रायगढ़ वन परिक्षेत्र से प्रशिक्षु रेंजर लीला पटेल के साथ वनपाल दिनबंधु प्रधान, वन रक्षक गोवर्धन राठौर, प्रेमातिर्की, आरके सारथी, भूषण जांगड़े, सत्यम प्रधान, मैत्री, प्रतिमा गुप्ता सहित अन्य वनकर्मी मौजूद थे। तस्करों पर लगेगा लगाम विभागीय जानकारों ने बताया कि आरामिल में अक्सर मौका पाकर लकड़ी तस्कर चोरी की लकडिय़ों को ले आते हैं। इसके बाद चिरान कराने के बाद चोरी छिपे इसे खफा भी देते हैं, लेकिन नियमित रूप से आरामिल में इस की जांच होने से लकड़ी तस्कर आरामिल तक अवैध लकडिय़ों को लाने में घबराएंगे और आरामिल व तस्करों पर लगाम लगेगा। उल्लेखनीय है कि रायगढ़ वन परिक्षेत्र अंर्तगत लगभग 12 आरामिल संचालित हैं और विभागीय नियमों के अनुसार हर माह आरामिल का सत्यापन होना है, पर पूर्व में यहां आरामिल का सत्यापन ऑफिस में बैठे बैठे ही अधिकारी कर देते थे। ऐसे में आरामिल संचालक अपनी मनमानियों से बाज नहीं आते थे और लकड़ी तस्करों के साथ मिलकर अवैध चिरान भी अपने मिल में करते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। आरामिल की जांच विभाग के द्वारा मौके पर पहुंच कर की जा रही है। इस संबंध में रायगढ़ वन परिक्षेत्र के वनक्षेत्रपाल लीला ने हिंदुस्थान समाचार को बताया कि डीएफओ मनोज पांडे के मार्गदर्शन व एसडीओ एआर बंजारे के निर्देशन में आरामिल की रूटिंग जांच की जा रही है। यह जांच आरामिल में नियमित रूप से जारी रहेगी। किसी भी प्रकार की खामियां पाए जाने पर नियमानुसार कार्रवाई भी किया जाएगा। हिन्दुस्थान समाचार /रघुवीर प्रधान-hindusthansamachar.in