बड़ी खबरें

नानाजी जन्म शताब्दी वर्ष: शरदोत्सव हमारी सांस्कृतिक व आध्यात्मिक परम्परा: पवैया

नानाजी जन्म शताब्दी वर्ष: शरदोत्सव हमारी सांस्कृतिक व आध्यात्मिक परम्परा: पवैया

शरद पूर्णिमा पर चित्रकूट में तीन दिवसीय शरदोत्सव का रंगारंग आगाज हुआ। दीनदयाल शोध संस्थान के सुरेंद्रपाल ग्राउण्ड में पं दीनदयाल उपाध्याय एवं राष्ट्र ऋषि नानाजी देशमुख जन्म शताब्दी वर्ष पर आयोजित कार्यक्रम में पवन तिवारी टीकमगढ ने 'न जाने कौन से गुण पर दयानिधि रीझ जाते हैभजन प्रस्तुत किया। इसके बाद मुम्बई से आईं संजना ठाकुर ने कृष्ण प्रिया नृत्य नाटिका कीर्ति बैले एण्ड परफारमिंग आर्ट भोपाल द्वारा शक्ति-बैले नृत्य नाटिका के कार्यक्रम प्रस्तुत किए।
www.patrika.com
पूरी स्टोरी पढ़ें »

©Copyright Indicus Netlabs 2017. Raftaar ® is a registered trademark of Indicus Netlabs Pvt. Ltd.