बड़ी खबरें

ताल की समझ से आकार लेता दृष्टिबाधितों का यह अनूठा रंगमंच

कदमों की गिनती से करते हैं सटीक आकलन कंपोजररोमी अंकल के साथ रोहित हेमंत अंशुल दीपक और अभिनव दो दिन पहले आए नए छात्र सुनील को खेल-खेल में रंग मंच पर आपसी तालमेल और ताल का रहस्य समझा देते हैं। रोहित ने बताया हमारे अरमानों का स्कूल है नाट्यकुलम जो कदमों की गिनती और हाथों से छूकर चलता है। पढ़ने में अटपटा लगता है लेकिन यहां पढ़ने वाले बच्चे अपने आवास कमरे बिस्तर अलमारी के शेल्फ से लेकर हाथ धोने के नल की जगह को बखूबी पहचानते हैं। उनका अंदाजा इतना सटीक है कि बिना सहारे के चलते हुए और आस-पास खड़े लोगों से बचते हुए जब वो निकलते हैं तो एक बार तो यकीन ही नहीं होता कि इनकी आंखें देख नहीं
www.bhaskar.com
पूरी स्टोरी पढ़ें »


सबसे लोकप्रिय

©Copyright Indicus Netlabs 2017. Raftaar ® is a registered trademark of Indicus Netlabs Pvt. Ltd.