बड़ी खबरें

राष्ट्रनिर्माण के लिए शिक्षक करे योगदान

राष्ट्रनिर्माण के लिए शिक्षक करे योगदान

राष्ट्रनिर्माण में युवा और बच्चों का विशेष योगदान है जबकि आज के बच्चे नैतिक मूल्यों को खोते जा रहे है। ऐसे में बेहतर राष्ट्र की कल्पना करना मुश्किल है। राष्ट्रनिर्माण के लिए शिक्षकों को अपना योगदान देना होगा। ताकि स्कूली बच्चे नैतिक मूल्यों के साथ-साथ नागरिक मूल्यों का भी ध्यान रखे। इससे राष्ट्र न केवल समृद्ध बनेगा साथ ही अपनी विचारधाराओं में दूसरे देशों से अलग होगा। यह बाते दिल्ली से पहुंची मुख्य वक्ता मंदिरा ने अवेकन सिटिजन प्रोग्राम में कही। काय्रक्रम का आयोजन रामकृष्ण मिशन आश्रम के तहत किया गया था। इसमें शहर के 21 स्कूल से 42 शिक्षक पहुंचे थे। मंदिरा ने शिक्षकों
www.livehindustan.com
पूरी स्टोरी पढ़ें »

©Copyright Indicus Netlabs 2017. Raftaar ® is a registered trademark of Indicus Netlabs Pvt. Ltd.