बड़ी खबरें

भारत में सूखे के लिए यूरोप था जिम्‍मेदार, जानिए ये थी बड़ी वजह

शोधकर्ताओं का कहना है कि सल्‍फर डाइऑक्‍साइड का उत्‍सर्जन मुख्‍य तौर पर कोयले से चलने वाले पावर प्‍लांट से होता है। इससे अमलीय बारिश हृदय और फेफड़ों के रोग पोधों के विकास का रुकना जैसे कई भयानक प्रभाव पड़ते हैं। सल्‍फर के कारण वातावरण में ठंड का प्रभाव बढ़ जाता है चूंकि इसके छोटे-छोटे कण और पानी की बूंदें सूरज की किरणों को रोक देते हैं। उत्‍तरी गोलार्ध के उत्‍सर्जन के कारण दक्षिण में भी गर्मी पर असर पड़ सकता है और का समय बदल सकता है जिसके परिणाम और भी खराब होंगे।
www.jagran.com
पूरी स्टोरी पढ़ें »

सबसे लोकप्रिय

©Copyright Indicus Netlabs 2017. Raftaar ® is a registered trademark of Indicus Netlabs Pvt. Ltd.