बड़ी खबरें

मुनाफाखोरी करने वालों की अब खैर नहीं, अथॉरिटी ऐसे करेगी काम

मुनाफाखोरी करने वालों की अब खैर नहीं, अथॉरिटी ऐसे करेगी काम

सरकार ने जीएसटी के तहत 200 से ज्यादा वस्तुओं पर टैक्स में की गई कटौती का फायदा ग्राहकों तक पहुंचाना सुनिश्चित करने के लिए गुरुवार को "नेशनल एंटी-प्रॉफिटियरिंग अथॉरिटी" (एनएए यानी "ना") या राष्ट्रीय मुनाफारोधी प्राधिकरण के गठन को मंजूरी दी।केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) और कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने कैबिनेट बैठक के बाद बताया कि "नेशनल एंटी-प्रॉफिटियरिंग अथॉरिटी देश के उपभोक्ताओं के लिए एक भरोसा है। यदि कोई ग्राहक यह महसूस करता है कि टैक्स में कटौती का फायदा उसे नहीं मिल रहा है तो वह अथॉरिटी के पास शिकायत कर सकता है।"उन्होंने कहा कि यह कदम उस प्रतिबद्धता को दर्शाता
naidunia.jagran.com
पूरी स्टोरी पढ़ें »

©Copyright Indicus Netlabs 2017. Raftaar ® is a registered trademark of Indicus Netlabs Pvt. Ltd.