बड़ी खबरें

नागपुर यूनिवर्सिटी : जिन पीएचडी थीसिस को दुनिया के सामने लाना था, वह कबाड़ में पड़ी हैं

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने करीब एक वर्ष पूर्व ‘शोधगंगा’ प्रोजेक्ट शुरू किया है। नागपुर विश्वविद्यालय समेत देश भर के विश्वविद्यालयों को यहां अपने शोध प्रबंध अपलोड करने के निर्देश हैं। विवि का रवैय्या अभी भी इसके प्रति उदासीन है। विवि से सिर्फ एक शोध प्रबंध इस पोर्टल पर उपलब्ध है। बिजनेस मैनेजमेंट विभाग को छोड़ कर शेष किसी भी शाखा की पीएचडी थीसिस यहां अपलोड नहीं है। इसका मुख्य कारण भी है अब तक विवि ने ‘शोधगंगा’ के लिए एमओयू ही साइन नहीं किया है। बीते कुछ समय से एमओयू की तैयारी विवि में चल रही है। वहीं नागपुर विवि की तुलना में विदर्भ की ही अमरावती विवि ने 715 प्रबंध यहां
www.bhaskar.com
पूरी स्टोरी पढ़ें »


सबसे लोकप्रिय

©Copyright Indicus Netlabs 2017. Raftaar ® is a registered trademark of Indicus Netlabs Pvt. Ltd.