बड़ी खबरें

भौतिक पदार्थो से नहीं मिल सकता आत्मिक सुख

संवाद सहयोगी चंबा : सत्संग निरंकारी भवन मुगला में रविवार को सत्संग का आयोजन किया गया। इस मौके पर महात्मा दीपक विशेष रूप से मौजूद रहे। सत्संग का आगाज अवतार वाणी से किया गया। स्टेज पर विराजमान महात्मा दीपक ने बताया कि कई सदियों तक यह जीवन अनेक योनियां भोगने के पश्चात मानव शरीर धारण करता है। बार-बार के जन्म और मरण के चक्कर से छुटकारा पाने का यही एक मात्र अवसर है। लेकिन मानव शरीर मिलने के बाद यह जीव आत्मिक सुख की तलाश में माया से ही आत्मिक सुख ढूंढने में लगा रहता है। लेकिन आध्यात्मिक अज्ञानता के कारण वह भूल जाता है कि आत्मिक सुख कभी भी भौतिक पदार्थों से नहीं मिल सकता। यह जीव परमेश्वर
www.jagran.com
पूरी स्टोरी पढ़ें »

©Copyright Indicus Netlabs 2017. Raftaar ® is a registered trademark of Indicus Netlabs Pvt. Ltd.