बड़ी खबरें

कैंसर रोगी इलाज के लिए दूसरे जिले जाने को मजबूर

कैंसर रोगी इलाज के लिए दूसरे जिले जाने को मजबूर

ं जागरण संवाददाता नूंह : नूंह जिला कैंसर के इलाज में आज भी अन्य जिलों से बहुत पीछे है। यहां कैंसर के इलाज के उपकरण तो दूर की बात यहां कैंसर के डाक्टर तक नहीं हैं। ऐसे में नूंह जिले के लोगों को रोहतक व दिल्ली जैसे शहरों में बने अस्पतालों की ओर रुख करना पड़ता है। जिले में धूम्रपान व तंबाकू का ज्यादा चलन होने के कारण यहां कैंसर के मरीज बढ़ते जा रहे हैं। फिलहाल आंकड़ों पर गौर करें तो जिले में अब तक कैंसर के सैकड़ों मरीज हैं। जिनका इलाज रोहतक व दूसरे शहरों के अस्पतालों में चल रहा है। कहने को तो यहां हर साल स्वास्थ्य विभाग कैंसर दिवस मनाता है। लेकिन जिले के लोगों पर इसका कोई खास असर देखने
www.jagran.com
पूरी स्टोरी पढ़ें »

©Copyright Indicus Netlabs 2017. Raftaar ® is a registered trademark of Indicus Netlabs Pvt. Ltd.