बड़ी खबरें

पंडित नेहरू के खिलाफ मुकदमा लड़ने से इस्माइल साहेब ने कर दिया था मना

पंडित नेहरू के खिलाफ मुकदमा लड़ने से इस्माइल साहेब ने कर दिया था मना

आक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से वैरिस्टर की पढ़ाई करने वाले वैरिस्टर इस्माइल वर्ष 1900 से लेकर 1930 तक गोरखपुर म्यूनिसिपल बोर्ड के चेयरमैन रहे। इस दौरान उन्होंने शहर में विकास के कई कार्यों को कराया। इसके बाद वह सरकारी अधिवक्ता हो गए। वर्ष 1940 में लालडिग्गी में हुई नेहरूजी की ऐतिहासिक सभा हुई थी। हजारों की भीड़ के बीच नेहरू द्वारा दिए गए भाषण को अंग्रेजों ने राजद्रोह माना और उनको गिरफ्तार कर जेल में बंद कर दिया। अंग्रेजों ने इस्माइल से पंडित नेहरू के खिलाफ मुकदमा लड़ने को कहा। इस्माइल खां ने जवाहर नेहरू से निजी रिश्तों का हवाला देते हुए मुकदमा लड़ने से मना कर दिया। अंग्रेजों को यह बात
www.livehindustan.com
पूरी स्टोरी पढ़ें »

©Copyright Indicus Netlabs 2017. Raftaar ® is a registered trademark of Indicus Netlabs Pvt. Ltd.