बड़ी खबरें

फिजुलखर्ची रोकने के लिए बिना बैंडबाजों की शादी

लहार। नईदुनिया न्यूजआमतौर पर शादी का नाम आते ही बैंडबाजों के साथ रंग-बिरंगी आतिशबाजी और लजीज खाने की तस्वीर जेहन में घूमने लगती हैं लेकिन लहार कस्बे में रविवार को एक अनोखी शादी हुई। इस शादी में न तो बैंडबाजा था और न ही दूल्हा घोड़ी पर चढ़कर आया। यहां वर-वधु ने सिर्फ 16 मिनट 32 सेकंड में गुरु संत रामपाल महाराज की तस्वीर रखकर और बंदी छा़ेड गरीब दास महाराज द्वारा लिखित भजन 'असुर निकंदन रमैनी को सुनकर एक-दूसरे माला पहनाकर शादी संपन्न की। यह है पूरा मामला : उत्तर प्रदेश के जिला जालौन तहसील कोंच के ग्राम खकल्ल निवासी भगतमति आराधना पुत्री भगत रामप्रकाश दास की शादी भिंड के लहार निवासी
naidunia.jagran.com
पूरी स्टोरी पढ़ें »

©Copyright Indicus Netlabs 2017. Raftaar ® is a registered trademark of Indicus Netlabs Pvt. Ltd.