Breaking News

बड़ी खबरें

डोकलाम गतिरोध:‘कूटनीतिक संपर्कों के बीच मजबूती से खड़े रहने की जरूरत’

डोकलाम गतिरोध:‘कूटनीतिक संपर्कों के बीच मजबूती से खड़े रहने की जरूरत’

नई दिल्ली। डोकलाम सीमा पर भारत और चीन द्वारा सैन्य शक्ति बढ़ाए जाने से जुड़ी खबरें आने के साथ ही दोनों देशों के बीच सीमा विवाद के शांत होने के आसार नजर नहीं आ रहे। हालांकि बीजिंग में नियुक्त रहे एक पूर्व राजनयिक का कहना है कि भारत को धैर्य से काम लेना चाहिए सीमा पर दमदार तरीके से बने रहना चाहिए और साथ ही अपने कूटनीतिक संपर्को को भी सक्रिय रखना चाहिए। जनवरी 2016 में सेवानिवृत्त हुए भारतीय राजदूत अशोक कांठा का कहना है कि दोनों देशों के बीच डोकलाम कोई पहला सीमा विवाद नहीं है। अरुणाचल प्रदेश की सुमडोरोंग चू घाटी में वांगडुंग को लेकर 1986 तक विवाद उठते रहे जब तक कि वार्ता के जरिए इसे
www.khaskhabar.com
पूरी स्टोरी पढ़ें »

अन्य सम्बन्धित समाचार


©Copyright Indicus Netlabs 2017. Raftaar ® is a registered trademark of Indicus Netlabs Pvt. Ltd.