Breaking News

बड़ी खबरें

ग्लूकोमा का नई तकनीक से इलाज, 3 से 5 साल तक में दवा सर्जरी से छुटकारा

पटना। अबग्लूकोमा के मरीजों का इलाज नई तकनीक सलेक्टिव लेजर ट्रैबेकुलोप्लास्टी (एसएलटी) से हो सकेगा। आईजीआईएमएस में इसके लिए मशीन जर्मनी से इस महीने के अंत तक जाएगी। अप्रैल से मरीजों को सुविधा मिलने लगेगी। बिहार झारखंड और बंगाल में सरकारी संस्थान में पहली बार यह मशीन लगाई जा रही है। इससे ग्लूकोमा मरीज की आंखों के एंगल को लेजर से ठीक किया जाता है। ग्लूकोमा में आंखों का प्रेशर बढ़ जाता है और नस सूखने लगती है। आईजीआईएमएस क्षेत्रीय नेत्र सेंटर के हेड डॉ बीपी सिन्हा के मुताबिक- एसएलटी से तीन से पांच साल तक में ग्लूकोमा के मरीज को दवा से छुटकारा मिल जाती है। यदि ग्लूकोमा एडवांस
www.bhaskar.com
पूरी स्टोरी पढ़ें »


सबसे लोकप्रिय

©Copyright Indicus Netlabs 2017. Raftaar ® is a registered trademark of Indicus Netlabs Pvt. Ltd.